पौधा लगाने से पहले निम्न बाते धयान से पढ़ लेवे


• पपीता की फसल लगाने के लिए जमीन उपजाऊ होना चाहिए I

• जिन जमीनों में बारिश का पानी भर जाता हो उन जमीनों में पपीता की खेती नहीं हो सकती है I

• पपीते के साथ कोई अन्य फसल न लगाए और किसी अन्य फसल में पपीता न लगाए I

• पपीते के पुराने बगीचे के पड़ोस में पपीते का नया बगीचा न लगाए I

• पौधे से पौधे की दुरी :
पंक्ति से पंक्ति की दुरी 7 फिट
पौधे से पौधे की दुरी 6 या 7 फिट

• प्रति एकड़ 1000 - 1100 पौधे लगाए जाते है I

• पौधा लगाने से पहले खेत में 3 से 5 ट्राली गोबर की अच्छी तरह से सड़ी हुई खाद प्रति एकड़ डाले I

• पौधा लगाने से पहले खेत में 3 से 5 बोरी सुपर खाद का बुरकाव अवश्य कर देवे I

• पौधे लगाने के 3 से 4 दिन पहले ही पौधे बुला ले, ताकि पोधा वहा के मौसम के अनुकूल बन जाए I

• पौधो को बंद कमरे में या गोडाउन में न रखे, किसी पैड की छाव में रखे जहा हवा का आवागमन बना रहता हो I

• पौधा अपने खेत में दोपहर के बाद ही लगाए I

• पपीते के पौधो पर स्प्रे के लिए उपयोग में लिए जाने वाला पम्प हमेशा अलग रखे I

• पपीते पर इल्ली मारने वाले किटनाशक दवाइयों का उपयोग कभी न करे I

• पपीते के खेत में डोरा या बख्खर एक साइड से ही निकाले एवं पौधे के ज्यादा नजदीक से ना निकाले, इससे पौधे की जड़े कटती है I

• पौधे को गर्मी में लू से बचाने के लिए मक्का के पौधे लगाये I(मक्का के पौधे पपीता के पौधो के दोनों और 1.5 फिट दूर ही लगाये)

• मक्का के पौधो को 1 जून तक खेत में से निकाल देवे I (यह सिर्फ पपीता के पौधो को लू से बचाने के लिए लगाये जाते है न की उत्पादन के लिए)

• खेत में पौधो की आवश्यकता अनुसार सिचाई करे I

• गर्मी में सिचाई की आवश्यकता का विशेष ध्यान देवे I

• बारिश शुरू होने के पहले ही पौधो के तनो के आसपास मिटटी चढ़ा देवे I

• पौधों पर लगने वाले टेढ़े-मेढ़े(विकृत आकार के)फलो को छोटी अवस्था में ही तोड़ कर फेक देवे I (250 ग्राम का फल होने से पहले)

• पहली बारिश होने के बाद पौधो के तनो पर नीले थोथे एवं चुने की पुताई करे I पुताई के लिए :-
a. नीला थोथा - 1 किलो
b. पुताई का चुना - 1 किलो
c. पानी - 10 लीटर

• तीनो का घोल बनाने के बाद 24 घंटे के पहले पुताई कर देवे I

• पहले चुने को पानी में डालकर कर ठंडा कर लेवे बाद में नीला थोथा पिस कर उसमे मिला लेवे I

• पुताई पौधे पर लगे फूलो एवं फलो के निचे ही करे I

पपीता के पौधो में दिए जाने वाली दवाओ की मात्रा एवं सम्बंधित जानकारिया

1. पौधा लगाने के बाद जड़ में डाले, प्रति पम्प 120 से 140 पौधे (नोज़ल निकाल कर)
नोट:- दवाई पौधे पर न उड़ने दे I
a. ट्रायकोडर्मा - 100 ग्राम
b.बायोनिकोनिमा - 100 ग्राम
=================================================================================
2. पौधा लगाने के 8 दिन बाद पौधे की जड़ में डाले प्रति पम्प 120 से 140 पौधे I (नोज़ल निकाल कर)
 नोट:- दवाई पौधे पर न उड़ने दे I
a. ब्लुकापर - 60 ग्राम

================================================================================= • पौधो पर स्प्रे 15 से 25 दिन में आवश्यकता अनुसार करे I
• स्प्रे के लिए उपयोग में लिया जाने वाला पम्प हमेशा अलग रखे I
• स्प्रे में इल्ली मरने वाले कीटनाशक दवाईयो का उपयोग कभी न करे आवश्यकता पड़ने पर संपर्क करे I
• पौधे पर किये जाने वाले छिडकाव निचे लिखे अनुसार करे I

=================================================================================
1. पौधा लगाने के 15 दिन बाद प्रति पम्प स्प्रे करे I
a. रोगोर - 25 एम्. एल.
b. वायरो वाश - 15 एम्. एल.

=================================================================================
2. दूसरा स्प्रे करे I (प्रति पम्प)
a. नीम का तेल - 60 एम्. एल.
b. वायरो वाश - 15 एम्. एल.

=================================================================================
3. तीसरा स्प्रे करे I (प्रति पम्प)
a. नीम का तेल - 60 एम्. एल
b. वायरो वाश - 15 एम्. एल.

=================================================================================
4. चौथा स्प्रे करे I (प्रति पम्प)
a. आरियोफंगिन - 3 ग्राम
b. स्ट्रेपटो सायक्लिन - 2 ग्राम

=================================================================================
5. पाचवा स्प्रे करे I (प्रति पम्प)
a. मेन्कोजेब - 30 ग्राम
b. एक्टारा - 8 ग्राम (डेढ़ चम्मच)
c. वायरो वाश - 15 एम्. एल.

=================================================================================
6.छठा स्प्रे करे I (प्रति पम्प)
a. इमिडाक्लोप्रिड - 6 एम्. एल
b. कापर ओक्सिक्लोराइड - 30 ग्राम
c. वायरो वाश - 15 एम्. एल.

पपीता के पौधो में दिए जाने वाले खाद की मात्रा एवं सम्बंधित जानकारिया

 रासायनिक खाद पौधे से 1 से 1.5 फिट दूर डाले I
 खाद हमेशा गाड कर देवे I
 खाद मात्रा प्रति एकड़ या प्रति हजार पौधा बताई गई है I
 पौधा लगाने से पहले खेत में 3 से 5 बोरी सुपर खाद का बुरकाव अवश्य कर देवे I
 खेत में खरपतवार न होने देवे, खरपतवार होने पर उसे तत्काल उखाड़े, खरपतवार होने से मच्छरों का आक्रमण बढता है एवं खरपतवार खाद में भी हिस्सा बाटते है, जिससे मुख्य फसल की पैदावार में गिरावट आती है I

================================================================================= 1. पौधा लगाने के पहले या 4 से 5 दिन बाद खाद डाले I (आधार खाद प्रति एकड़) खाद पौधे से 1 फिट दूर गोलाई में गाड़कर डाले
a. 12:32:16 - 150 किलो
b. पोटास - 50 किलो
c. माइक्रो न्यूट्रेन - 10 किलो
d. मैग्नेशियम सल्फेट - 30 किलो
e. जीवन जैविक - 5 बेग

=================================================================================
2. पौधा लगाने के 1 माह बाद खाद की मात्रा I (प्रति एकड़ या प्रति हजार पौधा) खाद पौधे से 1 से सवा फिट दूर गोलाई में गाड़कर डाले
a. केल्शियम नाइट्रेड - 15 किलो
b. जिंकसल्फेट - 15 किलो
c. जीवन जैविक - 5 बेग
d. पोटास - 50 किलो

=================================================================================
3. पौधा लगाने के 2 माह बाद खाद की मात्रा I खाद पौधे से 1 से 1.5 फिट दूर पौधे के दोने तरफ लम्बाई में गाड़कर डाले
a. डीएपी - 75 किलो
b. पोटास - 75 किलो

=================================================================================
4. पौधा लगाने के 3 माह बाद खाद की मात्रा I खाद पौधे से 1 से 1.5 फिट दूर पौधे के दोने तरफ लम्बाई में गाड़कर डाले
a. डीएपी - 75 किलो
b. पोटास - 75 किलो

=================================================================================
5. पौधा लगाने के 4 माह बाद खाद की मात्रा I खाद पौधे से 1 से 1.5 फिट दूर पौधे के दोने तरफ लम्बाई में गाड़कर डाले
a. डीएपी - 75 किलो
b.जीवन जैविक - 5 बेग
c. पोटास - 75 किलो
d. अमोनियम सल्फेट - 30 किलो
e. मैग्नेशियम सल्फेट - 30 किलो
=================================================================================

उपरोक्त जानकारिया हमारे 11 वर्षो के अनुभव के अनुसार है, जिसका अनुसरण करके आप पपीते की फसल का बेहतर उत्पादन ले सकते है एवं उसकी बीमारियों एवं कीटो पर नियंत्रण कर सकते है I उक्त जानकारी 6 माह की है, इससे आगे की जानकारी बगीचे की स्तिथि की समीक्षा करने के बाद दी जाएगी I

मौसम, जलवायु, फसल लगाने का समय, स्थान एवं प्रकृति में बदलाव के कारण हमारे द्वारा दी गई पुस्तिका में परिवर्तन हो सकता है इससे सम्बंधित जानकारी के लिए आपका तिरुपति ग्रीनहाउस नर्सरी पर स्वागत है I

धन्यवाद्

 जो बात समझ में नहीं आए कृपया फ़ोन लगाकर पूछ लेवे I
फ़ोन/फेक्स नं.- 07280-222999
मोबाइल नं.- 09479457751,9479457741,9479457796
ईमेल- tirupatinursery@gmail.com
वेबसाइट- www.tirupatinursery.com

==========================================================================
तिरुपति ग्रीनहाउस नर्सरी(ईकाई-1)- ग्राम सिरलाय, बडवाह- 786 पपीता पौधे एवं फलदार पौधे I
  मो.-09479457731 / 41 / 62 / 13 / 21

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
तिरुपति ग्रीनहाउस नर्सरी (ईकाई-2)- कवर कालोनी, बडवाह - सजावटी पौधे, फलदार पौधे, औषधीय पौधे,
मो.-9479457720 फोरेस्ट्री पौधे, कमल कुण्ड , गार्डन चेयर, तुलसीक्यारा एवं सीमेंट गमलो की विभिन्न वेरायटीया I

Papaya Red Leady